Deep Love Poems for Her in Hindi|शायद मुझे गहराई मे नही जाना चाहिए था

संसार में कौन अपना और कौन पराया लेकिन मै सदा से तुम्हारा अपना

तुम्हारे प्रेम के आगे सब कुछ छोटा है

बिल्कुल शून्य के समान है

तुम्हारा प्रेम मेरे जीवन में

ईश्वर के द्वारा दिया गया अब तक का

सबसे बड़ा वरदान है

और तुम ईश्वर की अब तक की

सबसे बेहतरीन रचना हो जैसा

आज तक ना हुआ था

ना है और ना ही आगे होगा

तुम्हारे प्यार की गहराई को

मै माप नही सकता हूँ

तुम्हारे प्रेम के आगे सब कुछ शून्य के समान है

मैने कोशिश की तुम्हारे

प्यार की गहराई को नाप सकूँ लेकिन

जब से कोशिश की है

तब से लेकर अब तक

मै तुम्हारे प्यार की गहराई को

मापे ही जा रहा हूँ लेकिन

गहराई है की खत्म होने के बजाय

और भी बढ़ती ही जा रही है

शायद मुझे गहराई मे नही जाना चाहिए था

प्रेम वही तो है जिसे तुम समझती हो

और मै समझता हूँ

जहाँ अपनी तम्मना भी सिर्फ

तुम्हारी तम्मना को पूरा करने की हो

वही तो प्रेम है जहाँ तुम्हारी जरूरत

आदत बन जाए वही तो प्रेम है

जहाँ हर दिन और रात सिर्फ

तुम्हारे इंतजार में ही बीत जाए

वही तो प्रेम है जहाँ मै

संसार की हर एक चीज

तुम्हारे आंखों से देखूँ वही तो प्रेम है

जहाँ ये निगाहें दुनिया की

इस भीड़ में बस तुम्हे ही तलाश करे

हर पल वही तो प्रेम है

जहाँ आंसू तुम्हारे आंखों में आए और

पलकें मेरी भींग जाए वही तो प्रेम है

जहाँ दुनिया की बड़ी से बड़ी खुशी भी

मै संसार की हर एक चीज तुम्हारे आंखों से देखूँ

मुझे बिना तुम्हारे मातम सी लगे वही तो प्रेम है

जहाँ मेरा रातो को जागना कुछ भी मायने ना रखे

मायने अगर मेरे लिए कुछ रखे तो

तुम्हारा रातो को बस चैन से सोना

वही तो प्रेम है जिसे तुम समझती हो

और मै समझता हूँ

कोई और इसे समझ ही नहीं सकता है क्योंकि

ये प्रेम नहीं है ये तो पूजा है एक कठोर तपस्या है

प्रेम वही तो है जिसे तुम समझती हो और मै समझता हूँ

जिसका उद्देश्य केवल एक दूसरे की खुशीयां की

एक तमन्ना आंखो मे बनकर अब उभर कर आए

इतना प्रेम कैसे सह पाऊँगा

मै अब कैसे रह पाऊँगा

अब तो मै पानी की तरह बह जाऊंगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.