जीवन में कामयाब होने के लिए क्या करना चाहिए

जीवन में कामयाब होने के लिए क्या करना चाहिए

जीवन में कामयाब होने के लिए केवल और केवल मेहनत करनी चाहिए और उस मेहनत पर भूरा भरोसा करना चाहिए क्योकि जो काम आपने मन से सच्चे हि्दय से किया और जिस कार्य में थोड़ी सी सच्चाई होती है वो कार्य कभी असफल हो ही नहीं सकता

सफलता प्राप्त करने का मूल मंत्र क्या है 
  • जिद्द 

जिद्द हमे कभी हारने नहीं देता क्योंकि हमारा मन हम से हमेंशा कहता है की तुम्हे फिर से एक कोशिश करनी चाहिए क्योकि जिद्द हमे जुझारू और लड़ने की ताकत देता है जो हमे हमेशा ये कहता है तुम्हारे भीतर क्षमता है तुम अपने उम्मीद पर खड़े उतरोगे बस तुम हारना मत सकारात्मक रूप में अगर हम जिद्द करें बार -बार असफल से सफल बनने के लिए तो फिर ये हमारे क्षमताओं को इतना बढ़ा देता है की हम सोच भी नहीं सकते 

  • जुनून 

जुनून हमे किसी काम को करने में पूरी तरह से समर्पित कर देता है हम हर वक्त अपने सपने के बारे में सोचते रहते हैं की कैसे हम अपने सपने को पूरी तरह से हासिल कर सकते हैं क्योंकि कभी -कभी हमे मेहनत से ज्यादा जुनून की आवश्यकता होती है इतिहास हमेशा से जुनून में भरमाए लोगों ने ही तो बनाया है

  • हार न मानना 

हार न मानने वाला रवैया हमे बताता है की हम में क्षमता है कुछ भी हासिल करने की लेकिन हम अपनी क्षमता का उपयोग तभी सही तरीके से कर सकते हैं जब हम हार नहीं मानते हैं कभी भी परिस्थितियों के सामने जो कभी हार नहीं मानता जो ये सोचे की वो हारा ही नहीं है तो भला उसे कौन हरा सकता है जो खुद को कभी पराजित ही न समझे भला उसे कौन परिजित कर सकता है

  • सकारात्मकता दृष्टिकोण 

हमे जीवन में हो रहे परिवर्तन को स्वीकार करना पड़ेगा क्योंकि जीवन में हर चीज हमेशा हमारे हिसाब से कहाँ होता है हमे उसे अपने हिसाब से बनाना पड़ता है यही तो एक सच्चे और कर्मठ इंसान की पहचान है जो मनुष्य हर चीज को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखता है जो बुराई में भी कुछ अच्छाई को खोज करे उससे कुछ ऐसा सीख ले जो उसके आने वाले जीवन में बहुत काम आने वाले हैं
तो इससे बड़ा सकारात्मक दृष्टिकोण भला क्या हो सकता है

  • परिवर्तन को स्वीकार करना 

जो मनुष्य अपने जीवन के हर परिवर्तन को एक बेहतर भविष्य के अवसर के रूप में देखता हो तो वो कभी भयभीत नहीं हो सकता है और न ही कभी पराजित हो सकता है क्योंकि परिवर्तन ही उसे विजय लक्ष्य तक पहुंचाएगी

  • बात को सहन करना 

अक्सर हमे जीवन में किसी -किसी की बात बहुत चुभती है लेकिन हमे ये समझना होगा ये जीवन है और हमे अपने जीवन में ऐसी बातों को ना चाहते हुए भी स्वीकार करना पड़ेगा हमे हर किसी के नकारात्मक बातों में सकारात्मकता तलाशनी होगी अक्सर जीवन में ऐसे कितने लोग होते हैं जो आपको हमेशा नीचा दिखाने में लगे रहते हैं वो कभी कोई कसर नहीं छोड़ते आप को नीचा दिखाने की मगर ऐसे में भी आप ने उनकी बातो को नजरंदाज किया तो आप से बड़ा धर्मयोगी कोई नहीं होगा क्योंकि आप पूर्णत सकारात्मक हो चुके होंगे

  • बेहतर स्वास्थ्य 

जीवन में हमारा स्वास्थ्य सबसे बड़ी संपत्ति है हमे इसे बेवजह नष्ट नहीं कर सकते इससे नुकसान सिर्फ हमारा खुद का है इसलिए हमे हर संभव कोशिश करनी होगी अपने स्वास्थ्य की अच्छी तरह से देखभाल करें तभी तो सुंदर स्वास्थ्य सुंदर जीवन का प्रतिनिधित्व करता है अगर हम स्वस्थ हैं तो जीवन की बाधाओं को ध्वस्त कर सकते हैं क्योंकि एक स्वस्थ मनुष्य के सोचने समझने की क्षमता काफी अधिक तेज गति से क्रियान्वित होती है एक अस्वस्थ मनुष्य के सोचने समझने की क्षमता से काफी बेहतर और अस्वस्थ मनुष्य सोचने समझने की क्षमताओं से अनभिज्ञ हो जाता है गिरते स्वास्थ्य से मजबूत इरादे कर्मों की चाह केवल एक स्वस्थ मनुष्य के जीवनशैली का हिस्सा होती है न कि किसी अस्वस्थ मनुष्य के जीवन शैली का

  • भाषा का प्रभाव 

भाषा हमारे जीवन को कही न कहीं प्रभावित और अप्रभावी करती है इसलिए हमे अपने भाषा पर नियंत्रण रखना चाहिए क्योकि भाषा मे शालिनता ही हमे शालिनता व्यक्ति बनाती है जीवन में बहुत से ऐसे मौके आएगें जब हमे किसी की भाषा बहुत प्रभावित और अप्रभावी करेगी लेकिन हमे जो चीज सही कारणों के लिए प्रभावित करे बस उसके प्रभाव को अपनाना है बाकी अप्रभावी प्रभाव से खुद को बचाना है समाज का विकास एक दूसरे से जुड़ कर ही हो सकता है और जो चीज लोगों को सबसे करीब लाती है वो भाषा ही तो है जो अपनेपन का अहसास दिलाती है जिससे सहयोग की भावना , प्रेम की भावना का विकास होता है और एक-दूसरे के सहारे प्रगति और विकास की राह धीरे-धीरे तय होने लगती है 

सफल जीवन के नियम

 व्यक्तिगत सफलता के कारक तो निम्नलिखित हैं जो हम स्वयं खुद के लिए निर्माण करते हैं

  • उनमें से कुछ प्रमुख कारको को देखते हैं
  • 1. ईमानदारी स्वयं के लिए और औरों के प्रति
  • 2. मेहनत से कभी नहीं भागना
  • 3. कठिन परिस्थितियों का सामना करना
  • 4. सदैव मुस्कुराने के लिए खुद को प्रेरित करना
  • 5. अपने लक्ष्य के प्रति खुद का पूर्ण समर्पण
  • 6. भावनाओं में नहीं बहना और कभी विचलित नहीं होना
  • 7. खुद की तुलना किसी और से करने से बचना
  • 8. भूतकाल में अपने किसी किए गए कार्य से विचलित नहीं होना
  • 9. जीवन में हर परिस्थिति के लिए तैयार रहना
  • 10. लोगों की भावनाओं की कद्र करना उनकी जरूरतों को समझना  

 

हर काम में सफलता के उपाय

सफलता किसी की भी हो चाहे मेरी हो या आप की मगर जो शीर्ष कारक होते हैं वो अद्धभूत होते हैं

  • खुद को सफल समझना

खुद को सफल बनना ही तो सफलता की नींव है जो हमे हमारे हर कार्य के लिए हमें गंभीर बनाती है क्योंकि जो मनुष्य सदैव अपनी प्रसन्नता को अपनी सफलता मानता है वैसा इंसान जीवन में कभी असफल नहीं हो सकता है कोई भी अगर खुद को सफल माने तो वे सफल है क्योंकि सदैव प्रसन्न रहना भी तो जीवन की बहुत बड़ी कामयाबी है

  • अपने आस-पास के माहौल को समझना

अपने आस-पास के माहौल के अनुसार खुद को हर वक्त बदलने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि अगर आपने खुद को बदलने का निर्णय ले लिया तो आप खुद को ऐसी जगह पर ले जा रहे हैं जहाँ आपके लिए सुख दुःख कुछ है ही नहीं ये बस जीवन का एक अपवाद है जो अपने बदले स्वरूप में आपके सामने प्रकट होता है अगर अपने आस-पास के माहौल को समझने लगे चाहे वो कोई भी हो वो ये देखें की आज कल की आवश्यकता क्या है और उस आवश्यकता में उसकी भूमिका क्या हो सकती है बस यही सोच कर प्रयास किया जाए तो सफलता के प्रमुख कारण में ये भी एक महत्वपूर्ण कारक है

  • शब्दों की जादूगरी

शब्द क्या है शब्द किसी भी मनुष्य के व्यक्तित्व का दर्पण ही तो है जो उसके हर एक शब्द से उसके व्यक्तिव के यश या अपयश का गुणगान करता है मनु के कहे शब्दों से उसकी कौशल उसकी क्षमता उसकी कमियाँ सब कुछ बयान होती है  हमे शब्दों की जादूगरी आनी चाहिए कौन से मौके पर कौन सा शब्द प्रयोग करना चाहिए जो हमें एक कुशलता और क्षमता दोनो प्रदान करती है किसी भी क्षेत्र में सफलता के लिए

व्यापार एवं नौकरी में सफलता के उपाय

मैंने सफलता को कभी निर्धारक के रूप में नहीं अपितु निर्धारित किया है सफलता को कुछ खास पैमानों पर

  • सत्य के पैमाने पर
  • कर्मठता के पैमाने पर
  • मेहनत के पैमाने पर
  • विश्वास के पैमाने पर
  • आत्मविश्वास के पैमाने पर
  • उत्साह के पैमाने पर
  • धैर्यवान के पैमाने पर
  • मानसिक शांति के पैमाने पर
  • समय के पैमाने पर
  • खुद को खुद के पैमाने पर

जीवन में तरक्की कैसे करे 

तरक्की करने का कोई लधु उपाय जीवन में नहीं है बल्कि कठिन मेहनत हर दिन लगातार करने से बस धैर्य और समय का इंतजार करना चाहिए क्योंकि अगर आपने मेहनत की है तो आपको उसका फल अवश्य मिलेगा सफलता प्राप्त करने के कितने ही कारक है हर किसी के लिए
मेहनत साहस धैर्य खुद पर भरोसा कभी न हार मानने का जज्बा लगातार हर दिन मेहनत करना कठिन परिस्थितियों में नहीं घबराना अगर इतने बातो पर गंभीरता से चलता है तो उसे सफलता प्राप्त करने से कोई रोक नहीं सकता

तरक्की के लिए क्या करें 

1. सफलता स्वयं कि सोच से प्राप्त की जा सकती हैं
2. सफलता और असफलता हमारे प्रयास पर निर्भर करता है
3. असफल मनुष्य सफलता का प्रतीक होता है
4. हर असफलता सफलता को चीख-पुकार करके अपने पास बुलाती है
5. सफलता क्या है इसका उत्तर हम से बेहतर कोई नहीं दे सकता है
6. सफलता कीमत केवल सफलता ही होती है 7. जीवन में सफलता को पैसे के पैमाने पर नहीं मापना चाहिए
8. हर रोज इरादों को और मजबूत बनाना चाहिए
9. हर जीत मेरी हार का ही नतीजा है
10. सफलता वो है जो सबके चेहरे पर मुस्कान लाने का काम करती है

जीवन में सफलता पाने का मूल मंत्र क्या है 

सफलता प्राप्त करने के लिए हमें बस मन से असफलता के भय से खुद को मुक्त करना चाहिए और निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए क्योंकि लगातार लोहे पर चोट करते रहने से चिंगारी निकली ही जाएगी कुछ खास नियम है सफलता प्राप्त करने के लिए जिसपर हम काम करके मेहनत करके गंभीरता पूर्वक ध्यान देखकर जीवन में उन्हें अपनाकर सफलता प्राप्त कर सकते है हमें हर किसी में ऐसा आत्मविश्वास जगाने की जरूरत है जिसकी लौ उनकी वाणी से प्रकट होनी चाहिए
हमें महापुरुष के जीवनी को पढ़ने की आवश्यकता है की वो किस परिस्थिति में कैसा व्यवहार था वो क्या सोचते थे तथा कितने सकारात्मक थे हमें भी वही करना चाहिए 

  • सबसे पहले वहीं कहे जो आप पूरा कर सकते हैं अन्यथा वो चीज आप नहीं कहे जो आप के वश में ना इससे आप की विश्वसनीयता खोने लगती है लोग आप की बातों पर यकीन नहीं करते है
  • सदैव सच बोलने का प्रयास करें क्योंकि सच ही सबसे विशाल व्यक्तित्व का निर्माण करती है जिसकी विशालता के आगे हर कोई छोटा नजर आता है
  • लोगों की जरूरतों को समझने का प्रयास होना चाहिए उनके तकलीफ को महसूस करने का प्रयास होना चाहिए
  • लोगों के मदद के लिए सदैव तैयार होने की आवश्यकता है जो आप को सम्मान ही दिलाती है
  • असत्य और गलत के खिलाफ आवाज उठाने से खुद के अंदर का विश्वास जागता है
  • सदैव जो शांति का प्रयास करता है वो संसार का सबसे ताकतवर इंसान होता है

हमें मौखिक से ज्यादा वास्तविक रूप से उन्हें सक्षम बनाने की आवश्यकता है हमें नजरिया को बदल कर नये तरीके से विकास को बढ़ावा देने की आवश्यकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *