sad love poetry in hindi| हिंदी कविता | दिल का दर्द किसे सुनाये

भाग :- ( 1 )
कौन से महफ़िल में जाए जहाँ शोर ना हो
ऐसा कोई कुनबा कहाँ जहाँ कोई चोर ना हो
वो दिल चुराते है कुछ ऐसे अंदाऐ बयां से
जहाँ से मेरी बर्बादी का जिम्मेदार कोई और ना हो
हमने लाख कोशिश की हम उन गलियों से ना गुजरे
मगर हमारे पांव थे जो हमे धोखा दे गए
हम चलना नहीं चाहते थे उन राहो पर
मगर फिर भी हम आगे बढ़ गये
अब हाल कुछ ऐसा है हमारा ये ना पूछो
हम तो अब खुद को भी नहीं पहचाने
लगे हैं आईना देखकर

अब हाल कुछ ऐसा है हमारा ये ना पूछो
हम तो अब खुद को भी नहीं पहचाने लगे हैं आईना देखकर


भाग :- ( 2 )
हर तरफ धंधा है हर तरफ आग है
ये कैसी कशमकश है जिंदगी की
सुकून का एक दिन भी जैसे ख्वाब है
ख्वाब देखना इतना बमुश्किल क्यो है
काली स्याही सी उड़ती राख है
मैली करती मेरी कमीज को
बचे भी तो कोई कैसे बचे
इन काले सूर्ख धब्बो से
आमुमन ये ही तो यारो
जिंदगी का ही एक भाग है

ये कैसी कशमकश है जिंदगी की
सुकून का एक दिन भी जैसे ख्वाब है


भाग :- ( 3 )
थक चुका हूँ इतना की अब सो जाना चाहता हूँ
ना ही अब कुछ सुनना चाहता हूँ और
ना ही अब कोई सुनाना चाहता हूँ
जिंदगी के सबसे मीठे पलो को
बस तोड़ लाना चाहता हूँ
दिल में कही एक ख्वाब था
आंखों में एक मंजर था
जिंदगी में सिर्फ तुम थे
सामने ना कोई दरिया ना कोई समंदर था
फिर भी हर ओर रेत ही रेत बिखर गये
ये कैसे तुम यूँ सवंर गये

सामने ना कोई दरिया ना कोई समंदर था
फिर भी हर ओर रेत ही रेत बिखर गये


भाग :- ( 4 )
मै भी खूबसूरत से एक फूल को
अपने घर के मंदिर की शान बना सकूँ
बहुत कोशिश की फूल तोड़कर
घर लाकर उसका मान बढ़ा सकूँ मगर
कांटों से हाथ हमारा लहूलुहान हो गया
जख्म इतने गहरे थे मै बेजान हो गया
होश जब आया तो देर हो चुकी थी
हमें ऊठते ऊठते अंधेरे हो चुकी थी

कांटों से हाथ हमारा लहूलुहान हो गया
जख्म इतने गहरे थे मै बेजान हो गया

short romantic love quotes in hindi


भाग :- ( 5 )
ऐसा कोई भी नहीं जिसने हमे उकसाया ना हो
कौन बचा है यहाँ धरती से आसमान तक
जिसने हमे सताया ना हो
हर रोज एक जख्म दे जाते हैं और
कहते हैं हम मलहम लगाने आए थे
कोई तो बताएं हमारा इलाज क्या है
हम भी नहीं जानते शायद जरूरी सवाल क्या है
अपने कमरे को रौशन किया है हमने रौशनियों से
मगर दिल के अंधेरे को कौन दूर करेगा
अब भी जवाब नहीं है मेरे जहन में
शायद सवाल ही दिल को कचोट देता है रह रह कर

कोई तो बताएं हमारा इलाज क्या है
हम भी नहीं जानते शायद जरूरी सवाल क्या है

भाग :- ( 6 )

मेरे खिलाफ तो सारा जमाना खड़ा हो गया

मै फिर भी नहीं हारता अगर तुम मेरा साथ ना छोड़ते

जीतने की तलब नही रहती मुझे बस

जमाने को ये बताना होता तुम साथ खड़े रहे तब भी मेरे

मेरे खिलाफ तो सारा जमाना खड़ा हो गया

मै फिर भी नहीं हारता अगर तुम मेरा साथ ना छोड़ते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *